Call Us:- 9039 636 706, 8656 979 221

SEEKING A

GOOD ONE

LAL KITAB ASTROLOGER

बीमारी का बगैर दवा भी इलाज है, मगर मौत का इलाज नहीं ..!

 दुनियावी हिसाब-किताब है, कोई दावा -ए- खुदाई नहीं … !!

लाल किताब वर्षफल कुंडली

Lal Kitab Varshfal Kundli

ज्योतिषाचार्य साहू जी के अनुसार, लाल किताब में ग्रहों को विभिन्न संज्ञाएं दी गई हैं जैसे सोया ग्रह, जागा ग्रह, धर्मी ग्रह, अधर्मी ग्रह, अंधा ग्रह, मंदा ग्रह, नेक ग्रह, किस्मत जगाने वाला ग्रह, पक्के भाव का ग्रह, कायम ग्रह, नपुंसक ग्रह आदि। लाल किताब में वर्ष कुंडली को विशेष महत्व दिया गया है।..

पूर्व जन्म के ऋण

Lal Kitab Debt (Rin)

 पूर्व जन्म के ऋण व उनके उपाय भी बताए गए हैं। वहीं विभिन्न ग्रहों व राशियों की स्थितियों के अनुसार शरीर व आत्मा को मिलने वाले कष्टों को विभिन्न उपायों से दूर करने की विधि भी दी गई है। विभिन्न ऋण व उनके उपाय लाल किताब में वर्णित, पूर्व जन्मानुसार जातक के ऊपर विभिन्न ऋण व उनके उपाय इस प्रकार हैं। पितृ ऋण, स्वऋण, …

शुभ व अशुभ ग्रहों के लक्षण

Symtoms of palnets

अशुभ ग्रहों के कारण प्रत्येक कार्य में असफलता मिलती है। शारीरिक और मानसिक, आर्थिक और व्यावसायिक कई और भी वजह हो सकती है जिसे सिर्फ एक लालकिताब ज्योतिषी साहू जी ही आप की मदद कर सकते है इससे मुक्ति के लिए जातक को प्रायश्चित सुझाव दिए जाते है।..

कुंडली परामर्श के लिए संपर्क करे..

Step 1. अपॉइंटमेंट फिक्स करे।

By calling fix an appointment with Astrologer Sahu Ji

Mob: +91 -9039 636 706, 8656 979 221. Indore (MP)

Step 2. जीवन की बातें, उपायों को ध्यान दें।

Be ready to along with pen paper for life’s events and remedies.

Step 3. खुश हो जाये।

Do all remedies as given by Astrologer Sahu JI and get rid of all the problems of life.

lal kitab astrologer

Astrologer Sahu Ji (Lal kitab astrologer)

Mob: +91 -9039 636 706, 8656 979 221. Indore (MP)

कोई फर्क नहीं पड़ता, अगर आपने असंभव मान लिया, कोई फर्क नहीं पड़ता, अगर आपने प्रयास नहीं किया,

कोई फर्क नहीं पड़ता.. अगर आपने हिम्मत छोड़ दी… लेकिन एक बात याद रखना… एक ना एक दिन एक ऐसा शख्स आयेगा जो इस असंभव को संभव बना कर दिखा देगा.. और ऐसा करके वो शख्स दुनिया में छा जायेगा और सिर्फ यही बोलोगे कि वो लकी है| दुनिया में मेहनत करने वालों की कमी नहीं है| आप नहीं तो कोई और सही.. असंभव के चक्रव्यूह को कोई आकर चुटकियों में ढेर कर देगा| वो व्यक्ति आप भी बन सके है यदि अपने ग्रहो को समझना और बदलन सीख लिया तो साडी खुशिया आप के कदमो में होगी| तो मित्रों, अपने ग्रहो को प्रबल बनाइये और असंभव शब्द को अपने मन, मष्तिष्क से निकाल दीजिये क्यूंकि यह शब्द आपको आगे बढ़ने से रोक रहा है|सभी के जीवन में एक समय ऐसा आता है जब सभी चीज़ें आपके विरोध में हो रहीं हों और हर तरफ से निराशा मिल रही हो|जिनके दिए गए ज्ञान से बहुत से विद्वान् ज्योतिष बने और उन्ही में से एक विद्वान् ज्योतिष विद्यार्थी ज्योतिषाचार्य मनोज साहू जी है जिन्हे दिल्ली, पंजाब, मध्यप्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों के ज्योतिशो द्वारा बेस्ट लालकिताब ज्योतिष अवार्ड से सम्मानित किया गया और इस विद्या को वर्तमान और आने वाली पीढ़ी तक पहुंचने में ज्योतिषाचार्य साहू जी Lal kitab astrologer इस अमूल्य लाल किताब ज्योतिष ज्ञान के माध्यम से लोगो को फायदा पंहुचा रहे है और अपने कार्य स्थल – Indore (MP) से शिक्षा प्रदान करते है तथा कुंडली परामर्श कार्य भी करते आए रहे है यह कार्य जो पिछले कई वर्षो से चल रहा है।…


वर्तमान काल में ज्योतिष में फलित कथन की अनेको पद्धतियां है, जिसमें मुख्य रूप से पाराशर पद्धति प्रचलित है। पाराशरी ज्योतिष पद्धति व लाल किताब ज्योतिष पद्धति में कुछ भिन्नता पाई जाती है। लेकिन जैमिनी, या कृष्णमूर्ति पद्धतियां भी उपयोग में लायी जाती हैं। ऐसी ही एक पद्धति का नाम है ‘लाल किताब’। भारतीय परंपराओं में लाल रंग जीवन के विकास का रंग है। शायद इसी लिए इसका नाम लाल किताब रखा गया है। लाल किताब पद्धति के लेखक कौन हैं, “श्री रूपचंद जोशी जी” यह कहना तो है। लेकिन जिस रूप में आज यह प्रचलित है, उसके मुख्य रचयिता “श्री रूपचंद जोशी जी” हैं।… जिन्होंने 1939 में फारसी में लिखी गई ज्योतिष फलकथन की एक किताब का उर्दू में अनुवाद किया और लाल किताब के नाम से छपवाया। ज्योतिषाचार्य साहू जी के अनुसार, हमारे पूर्व गुरुर बताते है की सन् 1952 तक इसके अनेक संस्करण छपे जिनमें से कुछ मुख्य हैं- लाल किताब गुटका, लाल किताब फरमान, लाल किताब अरमान, लाल किताब लग्न कुंडली व लाल किताब वर्ष फल कुंडली। मूल उर्दू की लाल किताब में 1172 पृष्ठ हैं जिसके विभिन्न अंशों को लेकर विभिन्न लेखकों ने विभिन्न रूपों में ‘लाल किताब’ की रचना की है जो बाजार में उपलब्ध हैं। लाल किताब के अनुसार सूर्य देव ही ज्योतिष के आचार्य हैं, उन्हीं से सारा बह्मांड प्रकाशमय है। उनके बिना जीवन असंभव है। जीवन में आए या आने वाले कष्टों से मुक्ति के उपायों से युक्त तथा ताम्र वर्ण (लाल रंग) वाले सूर्य देव द्वारा रचित ग्रंथ को लाल किताब नाम दिया गया। इसके अनुसार लाल किताब ज्योतिष कोई जादू टोना नहीं है बल्कि अपने पूर्वजन्म या इस जन्म के बुरे कर्मों से मिल रहे कष्टों से मुक्ति दिलाने का माध्यम है। लाल किताब में ग्रहों को विभिन्न संज्ञाएं दी गई हैं जैसे सोया ग्रह, जागा ग्रह, धर्मी ग्रह, अधर्मी ग्रह, अंधा ग्रह, मंदा ग्रह, नेक ग्रह, किस्मत जगाने वाला ग्रह, पक्के भाव का ग्रह, कायम ग्रह, नपुंसक ग्रह आदि। अनुवादित लाल किताब में भी अधिक शब्द उर्दू व फारसी के हैं। इनके साथ-साथ अंगे्रजी, पंजाबी व संस्कृत के शब्दों का भी उपयोग किया गया है। 

Dr. vivek joshi client of astrologer sahu ji

Dr. Vivek Joshi

Indore

Shyam sharma

Jabalpur

Laxman Yadav

(Business Man) Indore

Ashish bothra is client of astrologer sahu ji Indore

Ashish Bothra

(Business Man) Nagpur

Some of our clients & Students


Lal kitab astrologer help us to understand better the events of our past life. Besides helping in avoiding strains in marital relationships, business and professional matters, Astrologer Sahu JI the only one best astrologer of Lal Kitab astrology helps in enjoying good health, prosperity and spiritual advancement.

What are the benefits of Lalkitab Astrology?

How to use Lalkitab Astrology to improve our life?

What can Lalkitab Astrologer do

Why study Lalkitab Astrology?

Lal Kitab and It’s Remedy

lalkitab aur mangal mars

Lal kitab aur Mangal

लाल किताब ज्योतिषी साहू जी हमें अपने पिछले जीवन की घटनाओं को बेहतर ढंग से समझने में मदद करते हैं। वैवाहिक रिश्तों, व्यापार और पेशेवर मामलों में तनाव से बचने में मदद करने के अलावा,

lalkitab aur budh mercury

Lal kitab aur Budh

ज्योतिषी साहू जी लाल किताब ज्योतिष के एकमात्र सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी हैं जो अच्छे स्वास्थ्य, समृद्धि और आध्यात्मिक उन्नति का आनंद दिलाने में मदद करते हैं।

.

lalkitab aur shani saturn

Lal kitab aur Shani

लाल किताब ज्योतिषी साहू जी हमें अपने पिछले जीवन की घटनाओं को बेहतर ढंग से समझने में मदद करते हैं। वैवाहिक रिश्तों, व्यापार और पेशेवर मामलों में तनाव से बचने में मदद करने के अलावा,